2050 में दक्षिण एशिया में भारत का बद्तर लिंग अनुपात रहेगा जारी

जन्म के समय भारत के लिंग अनुपात को देखें तो यह पुरुषों के पक्ष में है। संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग के अनुमान के मुताबिक 2050 में दक्षिण एशिया में भारत का लिंग अनुपात बद्तर ही रहेगा।   2015 और 2020 के बीच, जन्म के समय भारत का लिंग अनुपात प्रति … Continued

7 भारतीय कंपनियां ग्लोबल # क्लीन 200 सूची में शामिल

सात भारतीय कंपनियों ( सुजलॉन एनर्जी, भारत हेवी इलेक्ट्रिकल्स, टाटा केमिकल्स, एक्साइड इंडस्ट्रीज, आईडीएफसी, थर्मैक्स और हैवेल्स इंडिया ) को अगस्त 2017 में क्लीन 200 रिपोर्ट में शामिल किया गया था। यह ब्लूमबर्ग न्यू एनर्जी फाइनेंस (बीएनईएफ) द्वारा मूल्यांकन के अनुसार स्वच्छ ऊर्जा राजस्व के आधार पर दुनिया भर में सार्वजनिक रूप से सूचीबद्ध सबसे … Continued

ग्रामीण भारत में, दो में से एक महिला में खून की कमी और चार में से एक महिला कम वजन की

ग्रामीण भारत में 15 से 49 वर्ष के बीच की कम से कम 54 फीसदी महिलाओं में खून की कमी है जबकि 27 फीसदी महिलाएं कम वजन की हैं। यह जानकारी नवीनतम स्वास्थ्य आंकड़ों में सामने आई है।   अच्छी खबर: एक दशक में, कम वजन वाली महिलाओं में 13.9 प्रतिशत और खून की कमी … Continued

वर्ष 2015 में, दिल्ली में बच्चों के खिलाफ सबसे ज्यादा अपराध दर दर्ज

राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो के आंकड़ों के मुताबिक, वर्ष 2015 में भारत में बच्चों के खिलाफ 94,000 से अधिक अपराधों की रिपोर्ट दर्ज की गई है। इनमें उच्चतम अनुपात महाराष्ट्र (14.8 फीसदी), मध्यप्रदेश (13.7 फीसदी) और उत्तर प्रदेश  (12.1 फीसदी) का रहा है।   प्रति 100,000 बच्चों पर औसत अपराध दर 21.1 रहा है। प्रति … Continued

वर्ष 2017 में अब तक प्रत्येक सप्ताह गाय से संबंधित एक हमला

वर्ष 2017 के 33 वें सप्ताह में, भारत में गाय संबंधित हिंसा की 30वीं घटना दर्ज की गई है। यह घटना बिहार के पश्चिम चंपारण जिले में हुई, जहां गाय निगरानी समिति के सदस्यों ने कथित तौर पर गाय का मांस खाने के आरोप में सात मुसलमानों पर हमला किया। हम बता दें कि वर्ष … Continued

गोरखपुर में बच्चों की मौत से उत्तर प्रदेश में बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की खुली पोल, और शहर भी हैं बदनाम

पूर्वी उत्तर प्रदेश का गोरखपुर, ‘बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल’ में लगभग 70 बच्चों की मृत्यु के कारण सुर्खियों में है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ‘हेल्थ इनफॉर्मेशन मैनेजमेंट सिस्टम’ (एचआईएमएस) से डेटा के अनुसार, वर्ष 2015-16 में नवजात शिशुओं की अनुमानित 7,659 मृत्यु के आधार पर 75 जिलों में गोरखपुर का स्थान 15वां था।   … Continued

खुले में शौच: वर्ष 2015 में 8 दक्षिण एशियाई देशों में भारत का प्रदर्शन सबसे खराब

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और यूनिसेफ द्वारा पानी की आपूर्ति, स्वच्छता और स्वच्छता के संयुक्त निगरानी कार्यक्रम की वर्ष 2017 की रिपोर्ट के अनुसार, वर्ष 2015 में 40 फीसदी भारतीय खुले में शौच के लिए जाते थे। इस मामले में 232 देशों / क्षेत्रों में से भारत 210वें स्थान पर रहा है। इस संबंध में … Continued

तीन वर्षों में पीछा करने के मामले में 52 फीसदी वृद्धि, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मामले दर्ज

वर्ष 2016 में महिलाओं का पीछा करने के कम से कम 7,132 मामले दर्ज किए गए हैं। ये आंकड़े वर्ष 2014 की तुलना में 52 फीसदी ज्यादा हैं। 8 अगस्त 2017 को गृह मंत्रालय के राज्य मंत्री हंसराज गंगाराम अहिर ने लोकसभा में एक प्रश्न के उत्तर में यह जानकारी दी है।   4 अगस्त, … Continued

पिछले 10 वर्षों से 2011 तक ध्वस्त मकानों में 28 फीसदी की वृद्धि

ध्वस्त मकानों की संख्या में 28 फीसदी की वृद्धी हुई है। वर्ष  2001 में ध्वस्त मकानों की संख्या 1.03 करोड़ थी। वर्ष 2011 की जनगणना में यह संख्या 1.32 करोड़ दर्ज की गई है।   जनगणना वर्गीकरण के अनुसार, यदि घर की दीवार घास, फूस, चिमटे, बांस, प्लास्टिक या पॉलिथीन से बनी होती है तो … Continued

अधिकतर बेरोजगारों को उनके हुनर के मुताबिक नौकरी नहीं

अप्रैल-दिसंबर 2015 में, 58.3 फीसदी बेरोजगार ग्रेजुएट और 62.4 फीसदी बेरोजगार पोस्ट-ग्रेजुएट्स ने कहा कि उनके पास नौकरी नहीं है। उन्होंने इसकी वजह ये बताई कि जिन कामों की भी उन्हें पेशकश की गई, वह उनके शिक्षा / कौशल और अनुभव से मेल नहीं खाती थी। यह जानकारी पांचवें वार्षिक रोजगार-बेरोजगारी सर्वेक्षण (2015-16) पर श्रम … Continued