भारत की मायानगरी मुंबई नगर निगम के कुछ आवंटित धन के बयोरे अंधकार में

  ग्रेटर मुंबई नगर निगम (एमसीजीएम) के आयुक्त द्वारा प्रस्तुत 2014-15 के बजट के विश्लेषण से ज्ञात होता है कि 75% से अधिक अर्जित या प्राप्त राजस्व  और 50% से अधिक कुल खर्च का ब्यौरा अस्पष्ट रहता है ।   मुंबई बजट  के अंतर्गत जो चार बजट शीर्ष  अर्थात् ए, बी, ई और जी शामिल … Continued

क्यों मुंबई की विफलता भारत की विफलता है

  दिल्ली में नई सरकार के सत्ता में आने के बाद से ‘बड़े आर्थिक सुधारों ‘ का बिगुल बार बार दोहराया जाता रहा है। यह निर्विवादित विषय है कि  भारत में कई तरह से विभागों और मंत्रालयों में सुधार की जरूरत है, लेकिन किस तरह के सुधार , देश के ढहते शहरों के आर्थिक विकास … Continued