सेलिब्रिटी सांसद: कम हाजिरी, कम बहस और कम सवाल

मुंबई: संसद में सेलिब्रिटी सदस्यों यानी फिल्म कलाकारों और गायकों की कम हाजिरी रही है। सेलिब्रिटी सदस्यों ने कम बहस में भाग लिया है। कम सवाल पूछे हैं, लेकिन 16 वीं लोकसभा में सभी सांसदों के अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास कोष का औसत से बेहतर इस्तेमाल किया है। यह जानकारी ऐसे 19 सांसदों के ट्रैक रिकॉर्ड पर हमारे विश्लेषण में सामने आई है।

औसतन, 16 वीं लोकसभा में 80 फीसदी की तुलना में 19 सेलिब्रिटी सांसदों ने 66 फीसदी उपस्थिति दर्ज की है, जैसा कि संसद के आंकड़ों पर इंडियास्पेंड के विश्लेषण से पता चलता है। केवल छह सेलिब्रिटी सांसदों ने 80 फीसदी या उससे अधिक की उपस्थिति दर्ज कराई है। भारतीय जनता पार्टी की सांसद और चुनावी फोटोशूट के दौरान खेत की जुताई करने का दिखावा करने वाली स्टार हेमा मालिनी की सदन में 39 फीसदी उपस्थिति है।

संसदीय बहसों में, सेलिब्रिटी सांसदों ने औसतन केवल 22 मुद्दों में भाग लिया है, जबकि केवल एक सांसद के उच्चतर रिपोर्टिंग (107 बहस में भागीदारी) के साथ 16 वीं लोकसभा के लिए बहस में भाग लेने का औसत आंकड़ा 67 है। औसतन, सेलिब्रिटी सांसदों ने 101 प्रश्न पूछे, जबकि सभी सांसदों ने एक साथ औसतन 293 प्रश्न पूछे।

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा, जो कि एक फिल्म कलाकार हैं और अब कांग्रेस पार्टी के साथ हैं, ने किसी बहस में हिस्सा नहीं लिया है और कोई सवाल नहीं पूछा है।

इसी समय, सेलिब्रिटी सांसदों ने सांसदों के लोकल एरिया डेवलपमेंट स्कीम (एमपीएलएडीएस ) फंड का उपयोग 5 अप्रैल, 2019 तक सभी सांसदों के औसत से बेहतर किया - 82.9 फीसदी की तुलना में 87.6 फीसदी।जिला कलेक्टर को उनके निर्वाचन क्षेत्र के तहत प्रत्येक सांसद को जिलों में कार्यों की सिफारिश करने के लिए विकास के लिए उनके कार्यकाल के प्रति वर्ष 5 करोड़ रुपये आवंटित किए जाते हैं। राजनीति में फिल्मी हस्तियां आम हैं और सोशल मीडिया पर ध्यान आकर्षित करने के कारण चुनाव लड़ने के साथ-साथ चुनाव प्रचार में तेजी लाते हैं। 

2019 लोकसभा चुनाव में पहली बार लड़ने वाले में कुछ प्रमुख हस्तियों में अभिनेता सनी देओल, उर्मिला मातोंडकर, प्रकाश राज और गायक हंस राज हंस शामिल हैं।इंडियास्पेंड ने संसदीय कार्यवाही में भागीदारी ( जानकारी, प्रश्न, निजी सदस्य बिल, सरकारी बिल, इत्यादि ) के आधार पर ऐसी 19 हस्तियों के प्रदर्शन का आकलन किया है।

इन सांसदों का चयन उनके पेशे के आधार पर किया गया था जैसा कि उनके प्रोफाइल में बताया गया है - ‘अभिनेता, कॉमेडियन ', फिल्म / थिएटर / टेलीविजन में अभिनेत्री,' कलाकार', ' कलाकार (गायक)' , ' भोजपुरी गायक', ' फिल्म कलाकार' और 'प्रदर्शन करने वाले कलाकार।'

Source: Lok Sabha 1, 2, 3; MPLADS Note: Attendance and business participation of a member of parliament as ministers is not accounted for. Babul Supriyo, BJP MP from Asansol, West Bengal, was appointed as the union minister of state in the ministry of urban development, and in ministry of housing and urban poverty alleviation on November 9, 2014. On July 12, 2016, he was appointed as the union minister of state for the ministry of heavy industries and public enterprises. *Supriyo signed the attendance register for 15 of 33 sittings before he was appointed as the minister. Ramsinh Pataliyabhai Rathwa, BJP MP from Chhota Udaipur, Gujarat, is a (fine arts) artist, hence not included in the list.

औसत से कम उपस्थिति

16 वीं लोकसभा जून 2014 से फरवरी 2019 तक कुल 331 दिनों के लिए बैठी थी। सभी सांसदों की औसत उपस्थिति 80 फीसदी थी, जैसा कि पीआरएस लेजिस्लेटिव के विश्लेषण से पता चलता है। इसके विपरीत, सेलिब्रिटी सांसदों की औसतन 66 फीसदी उपस्थिति थी।

सेलिब्रिटी सांसदों में, अभिनेता जॉर्ज बेकर ने अधिकतम (98 फीसदी) उपस्थिति की सूचना दी है। एक असमिया और बंगाली फिल्म अभिनेता, बेकर, एक नामित सांसद हैं - 23 जुलाई 2015 को एंग्लो-इंडियन समुदाय के सदस्य के रूप में भाजपा द्वारा पश्चिम बंगाल से नामित। उन्होंने 10 अगस्त, 2015 को अपना कार्यकाल शुरु किया और 228 दिनों में से 223 दिन उपस्थित रहे।

महाराष्ट्र के सोलापुर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा सांसद शरदकुमार बनसोडे, जो पहले एक मराठी फिल्म अभिनेता थे और अब एक वकील हैं, उन्होंने 93 फीसदी उपस्थिति (331 दिनों की 307) की सूचना दी है। एक बेहतर उपस्थिति रिकॉर्ड के साथ फिल्म कलाकार और भोजपुरी गायक छोटेलाल (88 फीसदी), तेलुगू फिल्म अभिनेता मुरली मोहन मगंती (85 फीसदी) और फिल्म और टेलीविजन अभिनेता किरन खेर (84 फीसदी) थे।

अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करने वाले पश्चिम बंगाल के घटल निर्वाचन क्षेत्र के एक बंगाली फिल्म अभिनेता दीपक (देव) अधिकारी ने सबसे कम (11 फीसदी) उपस्थिति दर्ज की है। कम उपस्थिति वाली सूची में अन्य सांसदों में बॉलीवुड फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी (39 फीसदी), बंगाली अभिनेता तापस पॉल (47 फीसदी), बंगाली अभिनेत्री संध्या रॉय (53 फीसदी) और पंजाबी अभिनेता और हास्य अभिनेता भगवंत मान (56 फीसदी) शामिल हैं।

संसदीय कामों में कम भागीदारी

सेलिब्रिटी सांसदों की लिस्ट में से चंडीगढ़ के बीजेपी सांसद किरण खेर ने सबसे ज्यादा (335) सवाल पूछे, जो 16 वीं लोकसभा के औसत 293 से ज्यादा है।

आंध्र प्रदेश के राजमुंदरी से तेलुगु फिल्म अभिनेता मुरली मोहन मगंती 267 सवालों के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे। इनके बाद भोजपुरी गायक और अभिनेता मनोज तिवारी (258), जॉर्ज बेकर (255), और मुख्य रूप से मलयालम सिनेमा में अपने कामों के लिए जाने जाने वाले अभिनेता इनोसेंट (217) का स्थान रहा है।

बंगाली सिनेमा में अपने काम के लिए मशहूर अभिनेत्री मूनमून सेन, ओडिया फिल्म अभिनेता सिद्धांत महापात्रा और शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने पांच साल के कार्यकाल में एक भी सवाल नहीं पूछा है।

भगवंत मान ने सबसे अधिक बहस में भाग लिया, करीब 107, जो 16 वीं लोकसभा के 67 के औसत से ऊपर है।मान के बाद मुरली मोहन मगंति (55), किरन खेर (44), मासूम (40) और जॉर्ज बेकर (33) का स्थान रहा है, जो राष्ट्रीय औसत से नीचे थे।

जबकि शत्रुघ्न सिन्हा ने किसी भी बहस में भाग नहीं लिया, मून मून सेन ने एक में भाग लिया, जो 19 सेलिब्रिटी सांसदों में से सबसे कम है।

बेहतर एमपीएलएडीएस उपयोग

16 वीं लोकसभा में सांसदों ने 15 फीसदी अप्रयुक्त छोड़कर आवंटित विकास निधि का 85 फीसदी उपयोग किया, 12,051.36 करोड़ रुपये की कुल राशि का 1,806.08 करोड़ रुपये, जैसा कि इंडियास्पेंड ने 6 अप्रैल, 2019 की रिपोर्ट में बताया है।

  

19 सेलिब्रिटी सांसदों के बीच, 5 अप्रैल, 2019 तक संध्या रॉय ने एमपीएलएडीएस फंड के अधिकतम (98.8 फीसदी) उपयोग की सूचना दी, जो औसत से अधिक है। रॉय के बाद, सेलिब्रिटी की सूची में दीपक (देव) अधिकारी (96.7 फीसदी) का स्थान रहा है। इसके बाद, बंगाली सिनेमा की अभिनेत्री शताब्दी (बनर्जी) रॉय (95.6 फीसदी), वरिष्ठ अभिनेत्री, किरन खेर (91.2 फीसदी) और चर्चित अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा (91.1 फीसदी) का स्थान रहा है। बाबुल सुप्रियो ने एमपीएलएडी फंड का 74.1 फीसदी उपयोग की सूचना दी है।

(मल्लापुर सीनियर पॉलिसी एनालिस्ट हैं। फैजी नूर अहमद ने डेटा में सहयोग किया है। दोनों इंडियास्पेंड के साथ जुड़े हैं।)

यह लेख मूलत: अंग्रेजी में 08 मई,2019 को IndiaSpend पर प्रकाशित हुआ है।

हम फीडबैक का स्वागत करते हैं। हमसे respond@indiaspend.org पर संपर्क किया जा सकता है। हम भाषा और व्याकरण के लिए प्रतिक्रियाओं को संपादित करने का अधिकार रखते हैं।

मुंबई: संसद में सेलिब्रिटी सदस्यों यानी फिल्म कलाकारों और गायकों की कम हाजिरी रही है। सेलिब्रिटी सदस्यों ने कम बहस में भाग लिया है। कम सवाल पूछे हैं, लेकिन 16 वीं लोकसभा में सभी सांसदों के अपने निर्वाचन क्षेत्र के विकास कोष का औसत से बेहतर इस्तेमाल किया है। यह जानकारी ऐसे 19 सांसदों के ट्रैक रिकॉर्ड पर हमारे विश्लेषण में सामने आई है।

औसतन, 16 वीं लोकसभा में 80 फीसदी की तुलना में 19 सेलिब्रिटी सांसदों ने 66 फीसदी उपस्थिति दर्ज की है, जैसा कि संसद के आंकड़ों पर इंडियास्पेंड के विश्लेषण से पता चलता है। केवल छह सेलिब्रिटी सांसदों ने 80 फीसदी या उससे अधिक की उपस्थिति दर्ज कराई है। भारतीय जनता पार्टी की सांसद और चुनावी फोटोशूट के दौरान खेत की जुताई करने का दिखावा करने वाली स्टार हेमा मालिनी की सदन में 39 फीसदी उपस्थिति है।

संसदीय बहसों में, सेलिब्रिटी सांसदों ने औसतन केवल 22 मुद्दों में भाग लिया है, जबकि केवल एक सांसद के उच्चतर रिपोर्टिंग (107 बहस में भागीदारी) के साथ 16 वीं लोकसभा के लिए बहस में भाग लेने का औसत आंकड़ा 67 है। औसतन, सेलिब्रिटी सांसदों ने 101 प्रश्न पूछे, जबकि सभी सांसदों ने एक साथ औसतन 293 प्रश्न पूछे।

भाजपा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा, जो कि एक फिल्म कलाकार हैं और अब कांग्रेस पार्टी के साथ हैं, ने किसी बहस में हिस्सा नहीं लिया है और कोई सवाल नहीं पूछा है।

इसी समय, सेलिब्रिटी सांसदों ने सांसदों के लोकल एरिया डेवलपमेंट स्कीम (एमपीएलएडीएस ) फंड का उपयोग 5 अप्रैल, 2019 तक सभी सांसदों के औसत से बेहतर किया - 82.9 फीसदी की तुलना में 87.6 फीसदी।जिला कलेक्टर को उनके निर्वाचन क्षेत्र के तहत प्रत्येक सांसद को जिलों में कार्यों की सिफारिश करने के लिए विकास के लिए उनके कार्यकाल के प्रति वर्ष 5 करोड़ रुपये आवंटित किए जाते हैं। राजनीति में फिल्मी हस्तियां आम हैं और सोशल मीडिया पर ध्यान आकर्षित करने के कारण चुनाव लड़ने के साथ-साथ चुनाव प्रचार में तेजी लाते हैं। 

2019 लोकसभा चुनाव में पहली बार लड़ने वाले में कुछ प्रमुख हस्तियों में अभिनेता सनी देओल, उर्मिला मातोंडकर, प्रकाश राज और गायक हंस राज हंस शामिल हैं।इंडियास्पेंड ने संसदीय कार्यवाही में भागीदारी ( जानकारी, प्रश्न, निजी सदस्य बिल, सरकारी बिल, इत्यादि ) के आधार पर ऐसी 19 हस्तियों के प्रदर्शन का आकलन किया है।

इन सांसदों का चयन उनके पेशे के आधार पर किया गया था जैसा कि उनके प्रोफाइल में बताया गया है - ‘अभिनेता, कॉमेडियन ', फिल्म / थिएटर / टेलीविजन में अभिनेत्री,' कलाकार', ' कलाकार (गायक)' , ' भोजपुरी गायक', ' फिल्म कलाकार' और 'प्रदर्शन करने वाले कलाकार।'

Source: Lok Sabha 1, 2, 3; MPLADS Note: Attendance and business participation of a member of parliament as ministers is not accounted for. Babul Supriyo, BJP MP from Asansol, West Bengal, was appointed as the union minister of state in the ministry of urban development, and in ministry of housing and urban poverty alleviation on November 9, 2014. On July 12, 2016, he was appointed as the union minister of state for the ministry of heavy industries and public enterprises. *Supriyo signed the attendance register for 15 of 33 sittings before he was appointed as the minister. Ramsinh Pataliyabhai Rathwa, BJP MP from Chhota Udaipur, Gujarat, is a (fine arts) artist, hence not included in the list.

औसत से कम उपस्थिति

16 वीं लोकसभा जून 2014 से फरवरी 2019 तक कुल 331 दिनों के लिए बैठी थी। सभी सांसदों की औसत उपस्थिति 80 फीसदी थी, जैसा कि पीआरएस लेजिस्लेटिव के विश्लेषण से पता चलता है। इसके विपरीत, सेलिब्रिटी सांसदों की औसतन 66 फीसदी उपस्थिति थी।

सेलिब्रिटी सांसदों में, अभिनेता जॉर्ज बेकर ने अधिकतम (98 फीसदी) उपस्थिति की सूचना दी है। एक असमिया और बंगाली फिल्म अभिनेता, बेकर, एक नामित सांसद हैं - 23 जुलाई 2015 को एंग्लो-इंडियन समुदाय के सदस्य के रूप में भाजपा द्वारा पश्चिम बंगाल से नामित। उन्होंने 10 अगस्त, 2015 को अपना कार्यकाल शुरु किया और 228 दिनों में से 223 दिन उपस्थित रहे।

महाराष्ट्र के सोलापुर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा सांसद शरदकुमार बनसोडे, जो पहले एक मराठी फिल्म अभिनेता थे और अब एक वकील हैं, उन्होंने 93 फीसदी उपस्थिति (331 दिनों की 307) की सूचना दी है। एक बेहतर उपस्थिति रिकॉर्ड के साथ फिल्म कलाकार और भोजपुरी गायक छोटेलाल (88 फीसदी), तेलुगू फिल्म अभिनेता मुरली मोहन मगंती (85 फीसदी) और फिल्म और टेलीविजन अभिनेता किरन खेर (84 फीसदी) थे।

अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस का प्रतिनिधित्व करने वाले पश्चिम बंगाल के घटल निर्वाचन क्षेत्र के एक बंगाली फिल्म अभिनेता दीपक (देव) अधिकारी ने सबसे कम (11 फीसदी) उपस्थिति दर्ज की है। कम उपस्थिति वाली सूची में अन्य सांसदों में बॉलीवुड फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी (39 फीसदी), बंगाली अभिनेता तापस पॉल (47 फीसदी), बंगाली अभिनेत्री संध्या रॉय (53 फीसदी) और पंजाबी अभिनेता और हास्य अभिनेता भगवंत मान (56 फीसदी) शामिल हैं।

संसदीय कामों में कम भागीदारी

सेलिब्रिटी सांसदों की लिस्ट में से चंडीगढ़ के बीजेपी सांसद किरण खेर ने सबसे ज्यादा (335) सवाल पूछे, जो 16 वीं लोकसभा के औसत 293 से ज्यादा है।

आंध्र प्रदेश के राजमुंदरी से तेलुगु फिल्म अभिनेता मुरली मोहन मगंती 267 सवालों के साथ दूसरे स्थान पर रहे थे। इनके बाद भोजपुरी गायक और अभिनेता मनोज तिवारी (258), जॉर्ज बेकर (255), और मुख्य रूप से मलयालम सिनेमा में अपने कामों के लिए जाने जाने वाले अभिनेता इनोसेंट (217) का स्थान रहा है।

बंगाली सिनेमा में अपने काम के लिए मशहूर अभिनेत्री मूनमून सेन, ओडिया फिल्म अभिनेता सिद्धांत महापात्रा और शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने पांच साल के कार्यकाल में एक भी सवाल नहीं पूछा है।

भगवंत मान ने सबसे अधिक बहस में भाग लिया, करीब 107, जो 16 वीं लोकसभा के 67 के औसत से ऊपर है।मान के बाद मुरली मोहन मगंति (55), किरन खेर (44), मासूम (40) और जॉर्ज बेकर (33) का स्थान रहा है, जो राष्ट्रीय औसत से नीचे थे।

जबकि शत्रुघ्न सिन्हा ने किसी भी बहस में भाग नहीं लिया, मून मून सेन ने एक में भाग लिया, जो 19 सेलिब्रिटी सांसदों में से सबसे कम है।

बेहतर एमपीएलएडीएस उपयोग

16 वीं लोकसभा में सांसदों ने 15 फीसदी अप्रयुक्त छोड़कर आवंटित विकास निधि का 85 फीसदी उपयोग किया, 12,051.36 करोड़ रुपये की कुल राशि का 1,806.08 करोड़ रुपये, जैसा कि इंडियास्पेंड ने 6 अप्रैल, 2019 की रिपोर्ट में बताया है।

  

19 सेलिब्रिटी सांसदों के बीच, 5 अप्रैल, 2019 तक संध्या रॉय ने एमपीएलएडीएस फंड के अधिकतम (98.8 फीसदी) उपयोग की सूचना दी, जो औसत से अधिक है। रॉय के बाद, सेलिब्रिटी की सूची में दीपक (देव) अधिकारी (96.7 फीसदी) का स्थान रहा है। इसके बाद, बंगाली सिनेमा की अभिनेत्री शताब्दी (बनर्जी) रॉय (95.6 फीसदी), वरिष्ठ अभिनेत्री, किरन खेर (91.2 फीसदी) और चर्चित अभिनेता शत्रुघ्न सिन्हा (91.1 फीसदी) का स्थान रहा है। बाबुल सुप्रियो ने एमपीएलएडी फंड का 74.1 फीसदी उपयोग की सूचना दी है।

(मल्लापुर सीनियर पॉलिसी एनालिस्ट हैं। फैजी नूर अहमद ने डेटा में सहयोग किया है। दोनों इंडियास्पेंड के साथ जुड़े हैं।)

यह लेख मूलत: अंग्रेजी में 08 मई,2019 को IndiaSpend पर प्रकाशित हुआ है।

हम फीडबैक का स्वागत करते हैं। हमसे respond@indiaspend.org पर संपर्क किया जा सकता है। हम भाषा और व्याकरण के लिए प्रतिक्रियाओं को संपादित करने का अधिकार रखते हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code