भारत की राजधानी में कम नौकरियां,बेरोजगार श्रमिकों की संख्या बहुत ज्यादा

हरोला (दिल्ली): दिन चढ़ने के साथ, दोपहर तापमान 42 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ गया तो ...

नोटबंदी के ढ़ाई साल बाद भी पुणे में श्रमिकों की कमाई कम

पुणे: 50 वर्षीय, अर्जुन काले पुणे में दिहाड़ी मजदूरी का काम करते हैं। 2019 के लोकस...

नौकरी पर डेटा अधिक शहरी बेरोजगारी का करती है खुलासा, लेकिन औपचारिक नौकरियों की संख्या भी ज्यादा

नई दिल्ली: सरकार द्वारा जारी नवीनतम नौकरियों के आंकड़ों -काफी विवादों और बहस...

पंजाब के लेबर हब में श्रमिक एक-तिहाई मजदूरी पर नौकरी करने को तैयार

भटिंडा से 60 किलोमीटर दूर, मनसा का ‘मालगोदाम लेबर हब’ रेलवे स्टेशन के नजदीक है...

ग्रामीण रोजगार संकट से महिलाएं होती हैं सबसे ज्यादा प्रभावित

  मुंबई और नासिक: जब कमल गंगरुद घाटी के पास बने अपने घर के बगल के खेतों की ओर देखती है, तो उन्हें खेतों की वह पट्टी दिखती है, जिस पर इस वर्ष जुताई या रोपण नहीं होगा। डिवेलपर को बेची दी गई है वह जमीन, जो कारखानों और सड़कों का निर्माण करेगा या आम … Continued

बीजेपी मंत्री ने कहा, 10 करोड़ नौकरियां सृजित: आंकड़े कहते हैं नौकरियों में हुआ है नुकसान

  बेंगलुरु: 11 अप्रैल, 2019 को 17 वें लोकसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान हुआ। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने दावा किया कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार ने 10 करोड़ नौकरियां सृजित की हैं, जो नेशनल सैंपल सर्वे ऑफिस के लीक हुए डेटा के विपरीत हैं। डेटा में 2017-18 के दौरान बेरोजगारी … Continued

बेरोजगार युवाओं से यूपी में बीजेपी को हो सकता है नुकसान

( चिनहट लेबर हब में काम का इंतजार करते मजदूर )    लखनऊ: राम बारन के फोन की घंटी ...

अपने जनसांख्यिकी अवसर को खो रहा है पश्चिम बंगाल

( लगभग 15,000 लोग, जिनमें ज्यादातर ग्रामीण जिलों के प्रवासी हैं, कोलकाता उपनगरीय ट्रेन स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर इक्ट्ठा हैं। एक उदास सी अर्थव्यवस्था में ये किसी भी तरह के काम पाने के लिए बेताब हैं। इनमें ज्यादातर अकुशल और अर्ध-कुशल दिहाड़ी मजदूर हैं, जिनके लिए अब काम खोजना बहुत कठिन हो रहा … Continued

अहमदाबाद की सड़कों पर दिख रहा है नोबेल पुरस्कार विजेता की ओर से बेरोजगारी की चेतावनी का चेहरा

  ( 25 वर्षीय अशिक्षित कंस्ट्रक्शन मजदूर राजेश परमार (पीले रंग की कमीज में)  ग...

केरल के श्रमिक केंद्रों में, नोटबंदी के बाद प्रवासी श्रमिकों की हालत बदतर

(बंगाल के मुर्शिदाबाद के निरक्षर राजमिस्त्री जलालुद्दीन शेख सात साल पहले क...