देश में बेहतर प्रशासन, पारदर्शिता और जवाबदेही को बढ़ावा देने के व्यापक उद्देश्य के साथ कई मुद्दों का विश्लेषण करने के लिए हम खुले डेटा का उपयोग करते हैं। इंडियास्पेंड की स्थापना 2011 के अंत में गोविंदराज एथिराज द्वारा की गई थी। एथिराज टीवी और प्रिंट पत्रकार हैं । वह ब्लूमबर्ग टीवी इंडिया के पूर्व संस्थापक एडिटर-इन-चीफ भी रह चुके हैं। इंडियास्पेंड की लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है । भारतीय अर्थव्यवस्था, पर्यावरण, शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा जैसे क्षेत्रों पर डेटा और तथ्यों के साथ-साथ भारत के राज्यों के आंकड़ों के मामले में यह ‘एजेंसी ऑफ रिकॉर्ड’ बन रहा है।

ठोस डेटा की सामान्य प्रकृति को देखते हुए, हमें लगता है कि न केवल भारत में बल्कि पूरी दुनिया में महत्वपूर्ण डेटा पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है और अवसर है । इससे महत्वपूर्ण नीतिगत मुद्दों और डेटा-आधारित चर्चा और विश्लेषण को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है। हमारा मानना है कि यह आने वाले वर्षों में और अधिक महत्वपूर्ण हो जाएगा, क्योंकि आने वाले समय में नागरिक शासन प्रक्रिया का अधिक सक्रिय हिस्सा बनेंगे। जाएंगे। इसका एक और उदेश्य अलग-अलग सोशल मीडिया मंचों का उपयोग करके अधिक आबादी तक पहुंचना है और राय की बजाय डेटा का उपयोग करते हुए एक सबल भारत बनाना है।

वर्ष 2014 के मार्च में हम Factchecker.in के साथ आपके सामने आए। यह आंकड़ों की सत्यता के साथ चीजों को जांचने और परखने का सटीक पहल है, जहां आप खुद हर कथन, वादे और बयानों की जांच कर पाते हैं।