भारत की नई सरकार के लिए परिवर्तनकारी एजेंडा

किसानों के लिए 18,000 रुपये की मासिक आय या उनके वर्तमान औसत का 2.8 गुना, आधिकारिक ब...

पहले की तुलना में इस बार सबसे ज्यादा महिला सांसद, फिर भी लोकसभा में केवल 14.6 फीसदी हिस्सेदारी

दिल्ली: एक ब्यूटी क्वीन, एक पुरस्कार विजेता लेखक और चार ‘जाइन्ट किलर’! एक जिस...

भारत में विकास पर वोट न देने की संभावना ज्यादा- अध्ययन

बेंगलुरु: एक हालिया अध्ययन के अनुसार, भारतीय मतदाता विकास या नीतियों के आधार...

अब तक सबसे ज्यादा महिला सांसद 17वीं लोकसभा में चुनी गईं

मुंबई: इंडियास्पेंड के विश्लेषण के अनुसार, 17 वीं लोकसभा में महिला संसद सदस्य...

भारतीय वोटरों के लिए विकास, सुशासन से भी ऊपर रहा राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा

मुंबई: 542 में से 304 सीटों पर बढ़त हासिल करने के बाद ( 2014 में हासिल किए गए 282 से 22 ज्या...

भारत के सबसे पवित्र शहर में, मोदी की पहले की तरह स्वीकार्यता नहीं

वाराणसी और भदोही (उत्तर प्रदेश): “मैं गलत बात नहीं कहता। कभी-कभी, अगर मैं सच नह...

“मोदी का विरोध अक्सर भारत विरोध पर जा पहुंचता है!”

बेंगलुरु: जब 28 वर्षीय तेजस्वी सूर्य को दिवंगत केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार की ...

सेलिब्रिटी सांसद: कम हाजिरी, कम बहस और कम सवाल

मुंबई: संसद में सेलिब्रिटी सदस्यों यानी फिल्म कलाकारों और गायकों की कम हाजि...

पिछड़े राज्य के पिछड़े क्षेत्रों में मोदी हैं पहली पसंद

  (2018 की यह तस्वीर मल्हार टोली की स्थिति को दिखाती है,तब 40 वर्षीय चिंतामणि मल...

चुनाव में भारत के वायु प्रदूषण में कटौती का वादा, लेकिन ये वादे पर्याप्त नहीं

  नई दिल्ली: दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के 2019 के आम चुनावों में पहली बार पार्टी के घोषणापत्र में वायु प्रदूषण का जिक्र हुआ है। हम बता दें कि भारत में वायु प्रदूषण मौत का सातवां सबसे बड़ा जोखिम कारक है, जिसके कारण 2017 में 12.4 लाख लोगों की मौत हुई है। और साथ … Continued   नई दिल्ली: दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के 2019 के आम चुनावों में पहली बार प...