जयपुर की जर्जर अनौपचारिक अर्थव्यवस्था में ग्रेजुएट, फैक्ट्री मालिक और किसानों को श्रमिक नौकरियों की तलाश

  ( जयपुर के मार्केट स्काव्यर में कॉन्ट्रैक्टर का इंतजार करते दिहाड़ी मजदूर। नोटबंदी और गुड्स एंड सर्विस टैक्स के बद्तर कार्यान्वयन और चीनी के द्वारा संचालित वस्तुओं से प्रतिस्पर्धा ने राष्ट्रव्यापी अर्थव्यवस्थाओं को अपंग बना दिया है। )   जयपुर: भारत के गुलाबी शहर के तीन बाजार क्षेत्रों में, खड़े एक पूर्व कृषक दंपति, … Continued