Top
केरल के श्रमिक केंद्रों में, नोटबंदी के बाद प्रवासी श्रमिकों की हालत बदतर
अर्थव्यवस्था व नीति

केरल के श्रमिक केंद्रों में, नोटबंदी के बाद प्रवासी श्रमिकों की हालत बदतर

(बंगाल के मुर्शिदाबाद के निरक्षर राजमिस्त्री जलालुद्दीन शेख सात साल पहले केरल के कोच्चि आए थे। नवंबर 2016 तक, उन्होंने हर महीने 22,000 रुपये कमाए,...

जयपुर की जर्जर अनौपचारिक अर्थव्यवस्था में ग्रेजुएट, फैक्ट्री मालिक और किसानों को श्रमिक नौकरियों की तलाश
अर्थव्यवस्था व नीति

जयपुर की जर्जर अनौपचारिक अर्थव्यवस्था में ग्रेजुएट, फैक्ट्री मालिक और किसानों को श्रमिक नौकरियों की तलाश

( जयपुर के मार्केट स्काव्यर में कॉन्ट्रैक्टर का इंतजार करते दिहाड़ी मजदूर। नोटबंदी और गुड्स एंड सर्विस टैक्स के बद्तर कार्यान्वयन और चीनी के...